Happy women’s day

ज़िन्दगी बाँटती चली सबको, खुद घुट घुट कर अपने ही जीवन से खेली हूँ में, इंसान हूँ , लड़का नहीं, बस यही ग़लती कि सहेली हूँ मैं, माँ बाप ने भी जब अपना न समझा,[…]

Continue reading …