Hope, faith and belief.

तू है, कभी मुझमे, कभी किसी और में,कभी बंजर में तो कभी घनघोर में, तू है !तू है, शामिल मनुष्य के हर चिंतन में,उनकी ख़ुशी में तनहा नाचने वाला भी, तू है ! तू है,[…]

Continue reading …

Parents. The only saviour

शुक्र तेरा करना भी चाहूँ, तो अलफ़ाज़ अधूरे रहते है, मिलके भले मौन रहें , तनहाई में खुद से ये कहते हैं, अपना मान जो कर्म किया, उसको ऋण मैं बताऊं कैसे ?, पुण्य दान[…]

Continue reading …

Happy women’s day

ज़िन्दगी बाँटती चली सबको, खुद घुट घुट कर अपने ही जीवन से खेली हूँ में, इंसान हूँ , लड़का नहीं, बस यही ग़लती कि सहेली हूँ मैं, माँ बाप ने भी जब अपना न समझा,[…]

Continue reading …

A wish.

परिंदे उड़ते हैं आसमानों में , दिल में ज़मीन को खास लिए,   हम चलते हैं ज़मीन पर, इक दिन उड़ने की आस लिए ।   It’s not about what we have or what we[…]

Continue reading …