A wish.

परिंदे उड़ते हैं आसमानों में , दिल में ज़मीन को खास लिए,   हम चलते हैं ज़मीन पर, इक दिन उड़ने की आस लिए ।   It’s not about what we have or what we[…]

Continue reading …

Darkness ? Or a chance for reincarnation?

दरख्तों के बाक़ी इन निशानों से झांकती ये ज़िन्दगी , शब्-ऐ -ग़म  के अंधेरों को काटती ये ज़िन्दगी ,   नज़रें उठा के देखो तो उस पार, मिलेगी बाँहें फैलाए तुम पर मुस्कुराने को तैयार[…]

Continue reading …

Who am i ?

मैं क्या हूँ ? सच हूँ या किसी शायर की कल्पना हूँ , गहरी इन रातों में ना जाने कितने ख्वाब मैं जी रहा हूँ , सच हैं ये अँधेरे जिनसे मैं घिरा हूँ ,[…]

Continue reading …